टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम | tennis ball cricket ke niyam Kya Hai?

टेनिस बॉल क्रिकेट भारत के स्वदेशी खेल से जुड़ा हुआ है यह सामान्य क्रिकेट मैच की तरह ही होता है, टेनिस बॉल से खेलने पर खिलाड़ियों को चोट लगने की संभावना बहुत कम होती है।

टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम क्या हैं tennis ball cricket ke niyam

टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम - tennis ball cricket ke niyam

टेनिस बॉल लेदर बॉल की अपेक्षा बहुत सस्ता होता है इसे 30 से ₹40 में आप आसानी से खरीद सकते हैं। क्रिकेट जगत में जितने भी बड़े बड़े स्टार खिलाड़ी होते हैं उनमें से अधिकतर खिलाड़ी बचपन में टेनिस बॉल से खेलते हैं।

#1. टेनिस बॉल क्रिकेट की शुरुआत

टेनिस बॉल क्रिकेट की शुरुआत 1990 के दशक में हुई थी। टेनिस बॉल क्रिकेट का आरंभ भारत और पाकिस्तान के बड़े शहरों में जैसे कोलकाता, लाहौर, मुंबई, से शुरू हुआ था।

इस खेल को सुचारू एवं नियम बद तरीके से चलाने के लिए टेनिस बॉल क्रिकेट फेडरेशन ऑफ इंडिया नियम बनाए जिसके आधार पर यह क्रिकेट खेला जाता है।

भारत के महान बल्लेबाज और लिटिल मास्टर कहे जाने वाले सुनील गावस्कर ने अपने कैरियर की शुरुआत टेनिस बॉल से की थी, सचिन तेंदुलकर, वसीम अकरम, शोएब अख्तर जैसे कई खिलाड़ियों ने अपने करियर की शुरुआत टेनिस बॉल से ही की थी और बाद में जाकर अपने कैरियर में कई बुलंदियों को छुआ।

#2. टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम

  • टेनिस बॉल मैच दो टीमों के बीच खेला जाता है।
  • टेनिस बॉल मैच में एक टीम के खिलाड़ियों की संख्या 14 (9+5) होती है।
  • 9 खिलाड़ी मैच के दौरान मैदान में खेलते हैं और 5 खिलाड़ी सब्सीट्यूट के रूप में खेलते हैं।
  • सब्सीट्यूट खिलाड़ी मैच के दौरान बल्लेबाजी या गेंदबाजी नहीं कर सकते हैं।
  • सब्सीट्यूट खिलाड़ी मैच के दौरान एक्स्ट्रा फील्डर या रनर के रूप में कार्य कर सकते हैं।
  • सब्सीट्यूट खिलाड़ी विकेटकीपिंग नहीं कर सकते हैं।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में विकेट कीपर ग्लव्स का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।
  • मैच को नियमों के अनुसार चलाने के लिए दो अंपायर मैदान में मौजूद रहते हैं।
  • हर मैच के लिए एक स्कोरर और असिस्टेंट स्कोरर की नियुक्ति की जाती है जो पूरे मैच का इसको और रिकॉर्ड का ब्यौरा रखते हैं।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में खिलाड़ी दस्ताने और पेड़ का उपयोग नहीं कर सकते हैं।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में ओवरों की संख्या 8 से लेकर 10 तक हो सकती है।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में लीग मैचों में पावरप्ले 2 ओवर का होता है इसमें बैटिंग पावर प्ले लागू नहीं होता है।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट के नाक आउट मैचों में पहले दो ओवर बॉलिंग पावर प्ले के होते हैं और तीसरा ओवर बैटिंग पावरप्ले का होता है।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में लीग मैच 8 ओवर के होते हैं तथा क्वालीफायर मैच और फाइनल मैच 10 ओवर के खेले जाते हैं।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में थर्ड अंपायर नहीं होते हैं इसमें फील्ड अंपायर के फैसले को ही माना जाता है।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में गेंद का वजन 75 से 85 ग्राम होता है।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में बैट की लंबाई 38 इंच से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में बैट की चौड़ाई 4 इंच से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • टेनिस बॉल क्रिकेट में बैट लकड़ी का होना अनिवार्य है।
  • हर इनिंग के बाद 5 मिनट का ब्रेक लिया जाता है।
  • लीग मैचों में 35 मिनट का होता है और मैच को 75 मिनट में खत्म करना होता है, यदि समय पर मैच खत्म नहीं होता है तो टीम पर पेनाल्टी लगेगा।
  • नॉकआउट मैचों में प्रत्येक इनिंग 40 मिनट का होता है।

#3. टेनिस बॉल क्रिकेट में बल्लेबाजी के नियम

  • टेनिस बॉल क्रिकेट में सामान्य क्रिकेट मैच की तरह एलबीडब्ल्यू का नियम नहीं होता है।
  • यदि कोई बल्लेबाज बल्लेबाजी के दौरान घायल हो जाता है और उसको रन देने में दिक्कत होती है तो वह रनर ले सकता है।
  • यदि किसी बल्लेबाज के कमर के ऊपर गेंद आती है तो वह गेंद नोबॉल होगी और अगली गेंद पर उसको फ्री हिट मिलेगा।
  • यदि कोई बल्लेबाज अपने शब्दों या किसी गतिविधि से फील्डिंग टीम को परेशान करने की कोशिश करता है तो विरोधी टीम के अपील पर अंपायर उसको आउट दे सकते हैं।
  • जब कोई बल्लेबाज रन आउट से बचने के लिए अपने बेटियां शरीर से गेंद को रोकने की कोशिश करता है तो विरोधी टीम की अपील पर अंपायर उसको आउट दे सकते हैं।

#4. टेनिस बॉल क्रिकेट मे गेंदबाजी के नियम

  • 8 ओवर के मैच में एक बॉलर अधिकतम 2 ओवर बॉलिंग कर सकता है।
  • 10 ओवर के मैच में एक बालर 3 ओवर और बाकी के बॉलर 2 ओवर बॉलिंग कर सकते हैं। 
  • एक ओवर में कोई बॉलर एक बार ही बाउंसर फेंक सकता है।
  • अगर पहली बाउंसर बल्लेबाज के सिर के ऊपर से जाती है और उसके ऊपर बल्लेबाज आउट होता है या रन बनाता है तो उस गेंद को लिगल डिलीवरी माना जाएगा और साथ ही उस बल्लेबाज को आउट दिया जाएगा या रन दिया जाएगा।
  • सभी तरह के नोबाल गेंद पर फ्री हिट दिया जाता है।
  • यदि कोई गेंदबाज एक बार में एक से अधिक बाउंसर फेंकता है तो उसको नो बॉल करार दिया जाएगा।
  • यदि कोई गेंदबाज बल्लेबाज की कमर से ऊपर गेंद करता है तो उसको नो बॉल करार दी जाएगी।
  • यदि गेंदबाजी करते समय किसी गेंदबाज का पैर क्रिज से बाहर चला जाता है तो उस गेंद को नो बॉल करार दी जाएगी।
  • यदि कोई गेंदबाज गेंद को वाइड लाइन के बाहर फेकता है तो उस गेंद को वाइड करार दी जाएगी।

#5. टेनिस बॉल क्रिकेट मे फील्डिंग के नियम

  • फील्डिंग करते समय केवल एक साइड में 5 फिल्डर ही रह सकते हैं।
  • यदि गेंदबाज के गेंद फेंकने से पहले बल्लेबाज अपनी क्रीज से बाहर निकल जाता है तो वह रन आउट हो सकता है।
  • यदि कोई खिलाड़ी 2 ओवर से अधिक समय तक मैदान से बाहर रहता है तो वह उस इनिंग में गेंदबाजी नहीं कर सकता है।
  • यदि किसी खिलाड़ी को फील्डिंग करते समय चोट लग जाती है तो वह अंपायर से बिना परमिशन लिए बाहर नहीं जा सकता है।
  • यदि कोई गेंदबाज गेंदबाजी करता है तो उस समय केवल विकेटकीपर ही हिल-डुल सकते हैं बाकी के खिलाड़ियों को हिलने डुलने की इजाजत नहीं होती है।

#6. टेनिस बॉल क्रिकेट मे सुपर ओवर के नियम

  • सुपर ओवर में जो टीम दूसरी इनिंग में बल्लेबाजी करती है उसको पहले बल्लेबाजी करने के लिए आमंत्रित किया जाता है।
  • सुपर ओवर में दो ही विकेट गिरने पर इनिंग खत्म हो जाती है।
  • यदि सुपर ओवर भी टाई रहता है तो जो टीम सबसे अधिक बाउंड्री लगाई जाती है उसको विजेता घोषित कर दिया जाता है। 

निष्कर्ष – टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम

टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम पर आधारित हमारे चक्कर में टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम की संपूर्ण जानकारी बताई गई है और हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। ऐसे ही उपयोगी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

1 thought on “टेनिस बॉल क्रिकेट के नियम | tennis ball cricket ke niyam Kya Hai?”

  1. सर मै यह जरुर पुछना चाहुगां आपसै की 2023 कै ओलपिकं खैल टैनिस बाँल क्रिकैट मै छक्के पर आउट माना जायैगा या नही माना जायेगा

    Reply

Leave a comment