समीक्षा अधिकारी सिलेबस इन हिंदी (samiksha adhikari syllabus)

समीक्षा अधिकारी परीक्षा, यूपीपीएससी द्वारा आयोजित एक प्रतिष्ठित परीक्षा होती है। जिस में चयनित छात्र उत्तर प्रदेश में समीक्षा अधिकारी के पद के लिए  नियुक्त होता है।

परंतु इस पद को पाना इतना आसान नहीं है,  इसके लिए अभ्यर्थी को बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है, बिना मेहनत के इस परीक्षा में उत्तीर्ण होना असंभव है।

कभी-कभी अभ्यार्थी इस परीक्षा के लिए बहुत ज्यादा लगन एवं मेहनत से तैयारी करते हैं, किंतु सही पाठ्यक्रम की जानकारी की जानकारी ना होने के कारण बहुत से अभ्यार्थियों का चयन इस परीक्षा के लिए नहीं हो पाता है।

समीक्षा अधिकारी सिलेबस इन हिंदी – samiksha adhikari syllabus

समीक्षा अधिकारी सिलेबस इन हिंदी - samiksha adhikari syllabus

अगर आप भी समीक्षा अधिकारी परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले हैं और आपको इसके पाठ्यक्रम की सही जानकारी नहीं है, तो आपको इसके लिए घबराने की आवश्यकता नहीं है।

क्योंकि हम आपको इस आर्टिकल के जरिए समीक्षा अधिकारी परीक्षा के पाठ्यक्रम एवं उससे जुड़ी जानकारियों को आपके साथ साझा करेंगे।

आपको बताएंगे कि आप इस परीक्षा के लिए कैसे तैयारी करें एवं समीक्षा अधिकारी परीक्षा का वास्तविक पाठ्यक्रम क्या होगा?

समीक्षा अधिकारी के पाठ्यक्रम को जानने से पहले हम थोड़ा सा समीक्षा अधिकारी के बारे में जान लेते हैं, आइए जानते हैं, कि समीक्षा अधिकारी कौन होता है ?

समीक्षा अधिकारी कौन होता है?

समीक्षा अधिकारी उत्तर प्रदेश राज्य के किसी भी विभाग का एक महत्वपूर्ण पद होता है; जो  उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, लोकसभा एवं सचिवालय जैसे कार्यालयो में कार्यरत होता है।

समीक्षा अधिकारी का मुख्य कार्य विभाग में अनुभाग द्वारा आए प्रश्न पत्रों को दिनांक के अनुसार डायरी एवं फाइलों में अंकित करना एवं उनका जवाब लिखना होता हैं।

  1. समीक्षा अधिकारी कैसे बने?  
  2. समीक्षा अधिकारी सिलेबस इन हिंदी                        
  3. जानें पढ़ाई करने का सही समय क्या है?
  4. कम समय में परीक्षा की तैयारी कैसे करें?
  5. एक दिन में एग्जाम की तैयारी कैसे करें?
  6. ट्रेन में बाहर से खाना कैसे मंगाए?

समीक्षा अधिकारी परीक्षा पाठ्यक्रम (Syllabus)

समीक्षा अधिकारी परीक्षा का आयोजन उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा प्रतिवर्ष किया जाता है। इस परीक्षा में लाखों अभ्यर्थी भाग लेते हैं और इस परीक्षा को पास करके अपने करियर को नई ऊंचाई में ले जाते हैं।

समीक्षा अधिकारी परीक्षा में कुल 2 चरण होते हैं; प्रथम चरण को प्रारंभिक परीक्षा तथा द्वितीय चरण को मुख्य परीक्षा कहते हैं।

यह दोनों परीक्षाएं लिखित होती हैं; इसमें अभ्यार्थी को कोई भी इंटरव्यू देना नहीं होता है।

प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम (Syllabus)

प्रारंभिक परीक्षा में कुल 2 पेपर होते हैं। जिनका कुल पूर्णांक 200 अंक होता है, अभ्यार्थी को इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए 60 से 65% अंक प्राप्त करने बेहद जरूरी होती है। इस परीक्षा के लिए लोक सेवा आयोग द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम कुछ इस प्रकार है–

सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र का पाठ्यक्रम –

इस प्रश्न पत्र में 140 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं, प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है तथा इस प्रश्न पत्र को हल करने के लिए अभ्यर्थी को 120 मिनट का समय दिया जाता है।

इस प्रश्न पत्र में निम्नलिखित विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं।

इतिहास – इस प्रश्न पत्र में भारतीय इतिहास से संबंधित लगभग 20 से 22 प्रश्न पूछे जाते हैं; इसमें घटनाचक्र पूर्वावलोकन, राष्ट्रीय आंदोलन तथा भारतीय इतिहास से संबंधित अन्य जानकारियां पूछी जाती है।

विश्व भूगोल – विश्व भूगोल के अंतर्गत वैश्विक भौगोलिक दशाएं एवं उनके घटना चक्र से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

 भारतीय अर्थव्यवस्था – इस विषय में कृषि, आर्थिकी, पूंजी बाजार, राष्ट्रीय आय, विदेश व्यापार तथा आर्थिक संगठनों से जुड़े प्रश्न प्रश्नपत्र में पूछे जाते हैं।

कृषि – कृषि के अंतर्गत कृषि प्रौद्योगिकी तथा कृषि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

भारतीय संविधान एवं उसकी घटना – भारतीय संविधान के अंतर्गत संविधान में पारित कानून एवं नियम से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

राज्य विशेष – इसके अंतर्गत प्रश्न पत्र में उत्तर प्रदेश के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं।

जनसंख्या एवं नगरीकरण – इसके अंतर्गत जनसंख्या एवं भारतीय नगर विकास के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं।

विज्ञान एवं सामान्य विज्ञान – विज्ञान एवं सामान्य विज्ञान के अंतर्गत इस विषय से थोड़े ही प्रश्न पूछे जाते हैं।

करंट अफेयर्स एवं बौद्धिक क्षमता – करंट अफेयर्स से डेली न्यूज़ अपडेट तथा बौद्धिक क्षमता से कुछ रिजनिंग के प्रश्न पूछे जाते हैं।

हिंदी के प्रश्न पत्र का पाठ्यक्रम –

हिंदी के प्रश्न पत्र अथवा द्वितीय प्रश्न पत्र में कुल 60 प्रश्न पूछे जाते हैं; प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होता है, जिसके लिए अभ्यर्थी को 60 मिनट का समय दिया जाता है।

इस पेपर में छह प्रकार के बिंदुओं से प्रश्न पूछे जाते हैं।

  1. विलोम शब्द
  2. वर्तनी एवं वाक्य शुद्ध
  3. पर्यायवाची
  4. विशेषण तथा विशेष्य
  5. तत्सम एवं तद्भव
  6. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम (Syllabus) 

मुख्य परीक्षा 400 अंकों की होती है; इस परीक्षा में अभ्यर्थी को कुल 3 पेपर देने होते हैं।

सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र का पाठ्यक्रम–

इस प्रश्न पत्र में 120 बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है; जिसके लिए अभ्यर्थी को 120 मिनट का समय दिया जाता है।

 इस प्रश्न पत्र में भारतीय इतिहास, भारतीय आंदोलन, विश्व भूगोल, करंट अफेयर्स, वाणिज्य एवं व्यापार कृषि तथा पर्यावरण करंट अफेयर्स एवं सामान्य बौद्धिक क्षमता जैसे विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं।

सामान्य अध्ययन एवं आलेखन के प्रश्न पत्र का पाठ्यक्रम–

इस प्रश्न पत्र में 2 खंड होते हैं। खंड (क) से परंपरागत सवाल पूछे जाते हैं; तथा प्रश्नों को हल करने के लिए 150 मिनट का समय दिया जाता है।

खंड (ख) से वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं; जिसके लिए अभ्यर्थी को आधा घंटा समय दिया जाता है।

खंड (क) से कंप्यूटर ज्ञान, प्रशासनिक एवं वाणिज्य प्रश्नावली, पत्र एवं गद्यांश का संदर्भ लिखना होता है।

खंड (ख) से पर्यायवाची, विलोम शब्द, तत्सम तद्भव, विशेषण और विशेष्य, अनेक शब्दों के लिए एक शब्द तथा वर्तनी एवं वाक्य शुद्ध जैसे प्रश्नों का उत्तर देना होता है।

हिंदी निबंध प्रश्न पत्र का पाठ्यक्रम–

इस प्रश्न पत्र में 3 प्रश्नों के 1–1शीर्षको से कूल 3 निबंध लिखने होते हैं, प्रत्येक निबंध 40अंकों का होता है।

 प्रत्येक निबंध में 600 शब्द लिखने होते हैं; जिसके लिए अभ्यर्थी को 3 घंटे का समय दिया जाता है। 

1. (क) साहित्य एवं संस्कृति

   (ख) सामाजिक क्षेत्र

   ( ग)  राजनीतिक क्षेत्र

2. (क) पर्यावरण विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

    (ख) कृषि एवं व्यापार

    (ग) आर्थिक क्षेत्र

3. (क) राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम

    (ख) राष्ट्रीय विकास योजनाएं

    (ग) प्राकृतिक आपदाएं

अभी आपने जाना कि समीक्षा अधिकारी की परीक्षा का पाठ्यक्रम क्या होता है?  अब हम आपको समीक्षा अधिकारी के बारे में पूछे जाने वाले  कुछ प्रश्न बताएंगे जो बहुत पूछे जाते हैं।

समीक्षा अधिकारी के बारे में पूछे जाने वाले प्रमुख प्रश्न

समीक्षा अधिकारी का क्या काम होता है?

समीक्षा अधिकारी का मुख्य काम किसी भी विभाग के कार्यालय में आने वाले पत्रों की जांच करना उन पत्रों को डायरी में अंकित करना होता है।

समीक्षा अधिकारी की कितनी सैलरी होती है?

समीक्षा अधिकारी का मूल वेतन 46800 होता है एक समीक्षा अधिकारी का वेतन प्रतिमाह 9300 से लेकर 34000 के आस पास होता है।

क्या समीक्षा अधिकारी एक राजपत्रित पद है?

हां समीक्षा अधिकारी एक राजपत्रित पद है; अक्सर लोग इसे केंद्रीय पद समझ लेते हैं किंतु ऐसा नहीं है।

समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन कैसे होता है?

समीक्षा अधिकारी का प्रमोशन विभाग में 4 से 5 वर्षों तक लगातार काम करने के पश्चात होता है, प्रमोशन होने के पश्चात समीक्षा अधिकारी अनुभाग अधिकारी के रूप में कार्य करता है।

समीक्षा अधिकारी के लिए योग्यता क्या होती है?

समीक्षा अधिकारी के लिए किसी भी वर्ग के अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होती है, आरक्षित वर्ग के लिए उम्र में विशेष छूट होती है।

समीक्षा अधिकारी के लिए आवेदन करने हेतु आपको किसी मान्यता प्राप्त महाविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त कर लेनी चाहिए।

समीक्षा अधिकारी सचिवालय में क्या करते हैं?

समीक्षा अधिकारी सचिवालय कार्यालय में सचिव के बाद प्रमुख अधिकारी होता है, वह कार्यालय में आने वाले प्रश्न पत्रों की जांच करता है एवं उनको रजिस्टर में अंकित करता है।

समीक्षा अधिकारी को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

समीक्षा अधिकारी को इंग्लिश में Review Officer कहते हैं; इसे शॉर्ट फॉर्म में RO भी कहते हैं।

निष्कर्ष – समीक्षा अधिकारी सिलेबस इन हिंदी

दोस्तों अभी हमने आपको बताया कि समीक्षा अधिकारी परीक्षा का सिलेबस क्या है और आप इसे किस तरह अपनी तैयारी में प्रयोग कर सकते हैं?

अगर आप भी समीक्षा अधिकारी पद के लिए तैयारी कर रहे हैं तो हम आशा करते हैं कि आपको हमारा है या आर्टिकल इस परीक्षा के लिए आपकी अवश्य मदद करेगा और आपको हमारा यह आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा।

Leave a comment