रणजी ट्रॉफी सबसे ज्यादा कौन जीता है? | Sabse Jyada Ranji Trophy Kaun Jeeta Hai 2023

Sabse Jyada Ranji Trophy Kisne Jeeti, Ranji Trophy Kya Hai In Hindi, रणजी ट्रॉफी की शुरुआत कब हुई, रणजी ट्रॉफी कैसे खेले, रणजी ट्रॉफी का इतिहास आदि विषयों के बारे में हिंदी में पूरा पढ़ें।

रणजी ट्रॉफी हमारे भारत देश की घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता या कंपटीशन है और इसमें भाग लेने के लिए भारत के राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों की क्रिकेट टीमें आती है। 

पिछले कई सालों से रणजी ट्रॉफी में कई टीमें हिस्सा ले रही है और कई टीमें बहुत बार जीती भी है। कई लोगों के यह पता नहीं है कि रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है तो इसके बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

इस आर्टिकल में हम आपको Sabse Jyada Ranji Trophy Kaun Jeeta Hai के बारे हिन्दी में पूरी जानकारी देंगे और साथ ही साथ आपको रणजी ट्रॉफी क्या होता है, रणजी ट्रॉफी की शुरआत कैसे हुई, रणजी ट्रॉफी में Ranji Trophy Mein Kaise Jaye आदि के बारे में भी बताया जाएगा।

रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है (Sabse Jyada Ranji Trophy Kisne Jeeti)

Sabse Jyada Ranji Trophy Kisne Jeeti, Ranji Trophy Kya Hai In Hindi, रणजी ट्रॉफी की शुरुआत कब हुई, रणजी ट्रॉफी कैसे खेले, रणजी ट्रॉफी का इतिहास

रणजी ट्रॉफी की शुरुआत होने के बाद कई रणजी क्रिकेट मैच कराए गए और इसमें भाग लेने के लिए कई टीमें आई तथा इसमें कई क्रिकेट टीमों ने अच्छा प्रदर्शन किया जबकि कुछ टीम में ज्यादा कुछ खास नहीं कर पाई। 

ऐसी ही एक टीम है, जिसने रणजी ट्रॉफी सबसे ज्यादा बार जीती है तो आइए आपके सवाल रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है? इसका जवाब देते हैं।

रणजी ट्रॉफी सबसे ज्यादा बार जीतने वाली टीम मुंबई रणजी टीम है, मुंबई टीम ने रणजी ट्रॉफी में कई बार अच्छी परफॉर्मेंस दी है और इसीलिए कुल 41 बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली टीम का खिताब हासिल किया है। 

रणजी ट्रॉफी के इतिहास में इतनी बार कोई टीम नहीं जीती है, और यह मुंबई रणजी टीम का रिकॉर्ड है, अभी तक यह रिकॉर्ड कायम है। रणजी ट्रॉफी में मुंबई रणजी टीम को सबसे मजबूत माना जाता है और टीम के खिलाड़ियों का प्रदर्शन भी काफी अच्छा रहा है। 

रणजी ट्रॉफी में अच्छा खेलने पर आपको नेशनल क्रिकेट टीम में भी जाने का मौका मिल सकता है और यह हर क्रिकेटर का सपना होता है। अब तक आपने सबसे ज्यादा रणजी ट्रॉफी जीतने वाली टीम के बारे में जाना है, अब आपको रणजी ट्रॉफी के बारे में विस्तार से जानकारी बताएंगे।

रणजी ट्रॉफी क्या होता है (Ranji Trophy Kya Hoti Hai)

भारत में सबको क्रिकेट से प्यार है, हर किसी ने अपने बचपन में और कुछ खेला हो या नहीं खेला हो, लेकिन क्रिकेट सबने खेला है। 

इसी चाहत को देखते हुए भारत में रणजी ट्रॉफी और इसके जैसे अन्य घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं को शुरू किया गया था। रणजी ट्रॉफी हमारे देश की घरेलू और फर्स्ट क्लास की कंपटीशन यानी प्रतियोगता है। 

इसमें भारत के कई राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों से रणजी ट्रॉफी खेलने के लिए क्रिकेट टीमें आती है। रणजी ट्रॉफी में दो तरीके से मैच खेले जाते है, जिसमें पहले तो 4 दिनों में रॉबिन लीग मैच होता है तथा फिर 5 दिनों में नॉकआउट मैच खेले जाते है। 

इस ट्रॉफी को 90 ओवर में खेला जाता है, जिसमें हर क्रिकेट टीम को दो बार बल्लेबाजी करने का और दो बार गेंदबाजी करने मौका दिया जाता है। 

रणजी ट्रॉफी की शुरआत कब हुई (Ranji Trophy History)

रणजी ट्रॉफी की शुरआत आज से कई साल पहले हुई थी और उसी समय से इसे भारत की घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता बनाया गया था। 

रणजी ट्रॉफी खेलने की शुरुआत 4 नवंबर 1934 को कर दी गई थी और उस समय रणजी ट्रॉफी मैच मद्रास और मैसूर की क्रिकेट टीमों के बीच हुआ था। 

उस समय रणजी ट्रॉफी के अलग नियम थे लेकिन बाद में उन नियमों में भी बदलाव किए गए तथा उसके बाद से हर साल रणजी ट्रॉफी के मैच करवाए जाते है। 

रणजी ट्रॉफी का आयोजन बीसीसीआई द्वारा किया जाता है और इसमें खेलने वाले क्रिकेट प्लेयर पर क्रिकेट बोर्ड के सदस्यों एवं क्रिकेट कोच का ध्यान रहता है। 

रणजी ट्रॉफी नाम किसके नाम पर पड़ा (Ranji Trophy Name History)

क्या आपने कभी सोचा था कि रणजी ट्रॉफी नाम क्यों पड़ा अगर आप इसके बारे जानना चाहते है तो आइए आपको बताते हैं। रणजी ट्रॉफी नाम महाराजा रणजीत सिंह के नाम पर रखा गया रणजीत सिंह भारत के पहले टेस्ट क्रिकेटर थे और इससे पहले उन्होंने नवानगर जिसे आज जामनगर के नाम से जाना जाता है, वहां पर कई सालों तक राज किया था। 

महाराजा रणजीत सिंह ने इंग्लैंड की क्रिकेट टीम की तरफ से भी खेला था, उन्होंने इंग्लैंड क्रिकेट टीम की तरफ से 15 टेस्ट मैच खेले थे। महाराजा रणजीत सिंह को क्रिकेट खेलने का बहुत शौक था और उन्होंने क्रिकेट खेल कर कई क्रिकेट मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया, इसी वजह से क्रिकेट के लिए प्रसिद्ध हुए थे। 

महाराजा रणजीत सिंह के मरने के बाद रणजी ट्रॉफी की शुरुआत हुई थी तथा उनकी याद में रणजी ट्रॉफी नाम रखा गया था और इन्हें “भारतीय क्रिकेट का पिता” भी कहा जाता है।

रणजी ट्रॉफी कैसे खेले (How Players Are Selected For Ranji Trophy)

रणजी ट्रॉफी में खेलना या रणजी ट्रॉफी में सिलेक्शन होना इतना आसान नहीं होता है इसके लिए आपको कई चरणों से गुजरना होता है तभी आप रणजी ट्रॉफी में क्रिकेट मैच खेलने के लिए योग्य माने जाएंगे और क्रिकेट के क्षेत्र में अपना कैरियर बना पाएंगे। रणजी ट्रॉफी में सिलेक्शन कैसे होता है इसका उत्तर आपको यह पढ़कर मिल जाएगा।

#1: सबसे पहले किसी क्रिकेट एकेडमी या क्रिकेट क्लब से जुड़ें

क्रिकेट के बारे जानने और समझने के लिए आपको इसकी प्रैक्टिस करनी होती है और अगर आप रणजी ट्रॉफी खेलना चाहते या एक क्रिकेटर बनना चाहते है, तो सबसे पहले आपको क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन कर लेना चाहिए। 

यहां पर आपको क्रिकेट के बारे में नॉलेज, क्रिकेट कैसे खेले, बैटिंग और बॉलिंग कैसे की जाती है, क्रिकेट टूर्नामेंट या मैच कैसे खेले जाते है आदि के बारे में सिखाया जाता है। क्रिकेट क्लब से जुड़ना रणजी ट्रॉफी में जाने का पहला कदम होता है।

#2: किसी टीम या क्रिकेट क्लब के लिए क्रिकेट मैच और टूर्नामेंट खेलें

अगर आपने अच्छे से क्रिकेट के बारे में जान लिया है, तो अब बारी आती है; उन क्रिकेट स्किल्स को उपयोग में लेने की यानी आपको किसी टीम या क्रिकेट क्लब आदि के लिए क्रिकेट टूर्नामेंट में भाग लेना चाहिए। इसका यह फायदा है कि आपको यह पता चल जाएगा कि आप क्रिकेट कितना सीख गए है और क्या चीजें क्रिकेट में सीखना बाकी है।

इसके साथ ही आप यह भी जान पाएंगे कि क्रिकेट मैच में किस तरह से खेलना चाहिए, क्रिकेट खेलने की टेक्निक का उपयोग कैसे करें आदि। 

क्रिकेट टूर्नामेंट में अच्छा खेलने पर आपको आगे के बड़े लेवल पर क्रिकेट टूर्नामेंट में भी भेजा जाता है, जिससे लोग आपको जानने लगते है और आपकी पहचान बनने लगती है।

#3: जिला स्तर के क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलें

रणजी ट्रॉफी में खेलने का मौका पाने के लिए खिलाडियों को जिला स्तर के मैच खेलने होते है तभी आप रणजी ट्रॉफी में सिलेक्शन के लिए अपना कदम बढ़ा पाएंगे। 

डिस्ट्रिक्ट लेवल के क्रिकेट टूर्नामेंट में अच्छी बल्लेबाजी या गेंदबाजी करने पर आपको आगे के मैचों में खेलने के लिए योग्य माना जाता है। जिला स्तर के बाद में खिलाडियों को आगे के क्रिकेट मैचों के लिए भेजा जाता है।

#4: अंतर जिला क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलें

जिला स्तर के क्रिकेट टूर्नामेंट के बाद अंतर जिला टूर्नामेंट के लिए भेजा जाता है और वहां पर जाने के बाद खिलाडियों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है; क्योंकि इसके बाद राज्य टीम के क्रिकेट मैचों में खेलने का मौका दिया जाता है। अंतर जिला क्रिकेट टूर्नामेंट बहुत महत्वपूर्ण होते है, इसलिए खिलाड़ियों को क्रिकेट खेलते समय अच्छी परफॉर्मेंस देने के कोशिश करनी चाहिए। 

अंतर जिला क्रिकेट टूर्नामेंट में कोई खिलाड़ी अच्छा खेलता है तो उसे राज्य क्रिकेट मैचों में राज्य टीम में शामिल किया जाता है।

#5: राज्य क्रिकेट टीम में शामिल होकर खेलें

अंतर जिला क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलने के बाद आपको राज्य की क्रिकेट टीम में सेलेक्ट किया जाता है। यह रणजी ट्रॉफी में शामिल होने का अंतिम चरण होता है, यदि आपने यहां अच्छा क्रिकेट खेला तो आपको क्रिकेट बोर्ड सेलेक्टर, कोच द्वारा रणजी ट्रॉफी में खेलने के लिए सेलेक्ट कर लिया जाता है। 

यहां क्रिकेट खेलने के बाद आपको रणजी ट्रॉफी ट्रायल के लिए भेजा जाता है, रणजी ट्रॉफी ट्रायल में 60 क्रिकेट प्लेयर में से टीमें बनाई जाती है और उनके बीच मैच करवाए जाते है और उनमें से जितने वाले को आखिरी 30 खिलाडियों में चयन किया जाता है।

#6: रणजी ट्रॉफी में खेलें

इन सबके के बाद आपको रणजी ट्रॉफी में खेलने दिया जाता है, यानी आपका इसमें सिलेक्शन हो जाता है। 

ध्यान रखें कि आपको रणजी ट्रॉफी में अच्छा खेलना चाहिए ताकि आपको इंडियन क्रिकेट टीम में भी चुना जा सके। रणजी ट्रॉफी में जितना हर क्रिकेटर का सपना होता है और क्रिकेट में आगे बढ़ने सबसे अच्छा रास्ता रणजी ट्रॉफी को ही माना जाता है। 

अगर आप रणजी ट्रॉफी में सेलेक्ट होना चाहते हैं, तो आज से ही क्रिकेट ही प्रैक्टिस करनी शुरू कर देनी चाहिए।

रणजी ट्रॉफी खेलने की उम्र क्या है (Ranji Trophy Selection Age Limit)

रणजी ट्रॉफी में कई तरह से क्रिकेट मैच आयोजित किए जाते है, जिसमें रणजी अंडर-14, रणजी अंडर-16, अंडर-19 और अंडर-23 होते है तथा रणजी ट्रॉफी में ओपन एज में मैच होते है।

इसलिए रणजी ट्रॉफी खेलने के लिए 23 साल उम्र या इससे अधिक होनी चाहिए। रणजी में आप अगर कई 23 साल की उम्र से ज्यादा वाले भी प्लेयर खेलते है और 35 साल या 40 साल इससे अधिक वाले भी खेल सकते है क्योंकि बीसीसीआई ने इसके लिए कोई सही नियम नहीं बना रखा है।

FAQs – रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है?

#1: रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाला खिलाड़ी कौन है?

रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाला खिलाड़ी वसीम जाफर है और वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन भी बनाए थे।

#2: रणजी ट्रॉफी खिलाडियों को कितना पैसा मिलता है?

रणजी ट्रॉफी खेलने वाले खिलाडियों को प्रति दिन के आधार पर सैलरी मिलती है जिसमें रणजी ट्रॉफी अंडर-16 में खिलाडियों को 3 हजार और आरक्षित खिलाडियों को आधी सैलरी मिलती हैं। 

वहीं अगर अंडर-19 वाले खिलाडियों की बात करे तो उन्हें 10 हजार रुपए देते है। अंडर-23 खेलने वाले खिलाडियों को 17 हजार रुपए दिए जाते है और रणजी ट्रॉफी खेलने वाले खिलाडियों को 35 हजार से अधिक की राशि प्रदान की जाती है तथा सबमें आरक्षित खिलाडियों को आधी सैलरी मिलती हैं।

#3: एक पारी में रणजी ट्रॉफी में सबसे कम रन किस टीम ने बनाए थे?

एक पारी में सबसे कम रन बनाने वाली टीम हैदराबाद थी और उस समय हैदराबाद की टीम 21 रन से ज्यादा नहीं बना पाई थी। 

हैदराबाद का मैच राजस्थान की क्रिकेट टीम के साथ 2010 में खेला जा रहा था। इतने कम रन रणजी ट्रॉफी में बनाने के रिकॉर्ड हैदराबाद के पास ही है।

#4: रणजी ट्रॉफी कब स्टार्ट हुई?

रणजी ट्रॉफी की शुरुआत का वर्ष 1934-35 माना जाता है और सबसे पहला रणजी ट्रॉफी मैच 4 नवंबर 1934 को खेला गया था। उस समय मैच मद्रास और मैसूर के बीच हुआ था।

#5: बीसीसीआई का फुल फॉर्म क्या है?

बीसीसीआई का हिंदी फुल फॉर्म भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड है जबकि अंग्रेजी में Board Of Control For Cricket In India है। बीसीसीआई भारत में क्रिकेट खेल के ऊपर नियंत्रण और नजर रखता है। 

क्रिकेट का कोई भी फैसला बीसीसीआई के माध्यम से ही लिया जा सकता है।

निष्कर्ष – रणजी ट्रॉफी सबसे ज्यादा कौन जीता है?

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है इसके बारे में बताया है और साथ ही साथ रणजी ट्रॉफी की शुरआत कब हुई, रणजी ट्रॉफी क्या है, How To Select In Ranji Trophy आदि के बारे में बताया है।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है और हेल्पफुल लगा है तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ भी शेयर जरुर करे ऐसे ही रोचक जानकारी वाली पोस्ट हम आपके लिए लाते रहेंगे, इसलिए हमारे साथ जुड़े रहे। 

रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा कौन जीता है? इस पर लिखे गए इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल हो तो हमसे जरूर पूछे।

Leave a comment