राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है? (Rajya Ka Sabse Bada Adhikari Kaun Hota Hai)

राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है, मुख्य सचिव कौन होता है, मुख्य सचिव के कार्य, मुख्य सचिव का वेतन, Rajya Ka Sabse Bada Adhikari, Rajya Ka Sabse Bada Adhikari Kaun Hota Hai आदि विषयों के बारे में पूरा पढ़ें।

आपके मन में कभी ना कभी तो यह सवाल आया होगा कि राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है, इसलिए आपके सवाल का जवाब देने के लिए हम यह आर्टिकल लिख रहे हैं।

इसलिए राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी के बारे में जानने के लिए आर्टिकल पूरा पढ़ें।

आपकी जानकारी और बढ़ाने के लिए आपको मुख्य सचिव कौन होता है, मुख्य सचिव के कार्य, मुख्य सचिव की नियुक्ति कैसे की जाती है आदि के बारे में भी बताएंगे।

अंततः आपको Rajya Ka Sabse Bada Adhikari Kaun Hota Hai इस विषय के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है? (Rajya Ka Sabse Bada Adhikari Kaun Hota Hai)

राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है? (Rajya Ka Sabse Bada Adhikari Kaun Hota Hai)

विकिपीडिया की माने तो मुख्य सचिव ही राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी होता है,  मुख्य सचिव को अंग्रेजी में “Chief Secretary” बोला जाता है।

मुख्य सचिव को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की सभी सिविल सेवाओं का प्रमुख भी माना जाता है, मुख्य सचिव राज्य सचिवालय में कार्य करता है। 

आपको बता दें कि मुख्य सचिव कोई आम अधिकारी नहीं होता है, मुख्य सचिव बनने के लिए सिविल सेवा में कई वर्षों का अनुभव होना अनिवार्य होता है। एक अनुभवी भारतीय प्रशासनिक सेवा का अधिकारी ही मुख्य सचिव बन सकता है।

मुख्य सचिव के कार्य राज्य में सबसे महत्वपूर्ण माने जाते हैं, क्योंकि कई बड़े मंत्रियों, मुख्यमंत्री आदि को परामर्श देने का कार्य मुख्य सचिव करता है।

अब आप समझ गए होंगे कि राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी मुख्य सचिव होता है, जैसा कि विकिपीडिया ने भी बताया है।

मुख्य सचिव कौन होता है? (Mukhya Sachiv Kya Hota Hai)

मुख्य सचिव किसी राज्य के सचिवालय में अपने कार्य करता है और इसे राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी माना जाता है। मुख्य सचिव प्रशासनिक सेवा का सबसे बड़ा ऑफिसर भी होता है।

मुख्य सचिव बनने के लिए ज्यादा योग्यता और कई सालों का इंतजार लगता है, क्योंकि एक मुख्य सचिव को पहले कई सालों तक प्रशासनिक सेवा अधिकारी के रूप में कार्य करना पड़ता है।

मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों को किसी भी तरह के मामलों में सलाह प्रदान करता है। नीति निर्माण, प्रशासन नियंत्रण, नए नियम और कानून लागू करवाना और अन्य कई प्रकार के कार्य करता है।

मुख्य सचिव की नियुक्ति के लिए योग्यता (Mukhya Sachiv Ki Niyukti Ke Liye Yogyata)

किसी राज्य का मुख्य सचिव बनना इतना आसान नहीं होता है, कई सालों के इंतजार और अच्छी योग्यता होने पर किसी अधिकारी को मुख्य सचिव बनाया जाता है। 

मुख्य सचिव की नियुक्ति के लिए योग्यता के बारे में जानने के लिए निम्नलिखित बिंदु पढ़ें।

  • मुख्य सचिव वही अधिकारी बन सकता है, जिसके पास प्रशासनिक सेवा में 35 साल या  इससे अधिक वर्षों का अनुभव हो।
  • मुख्य सचिव बनने के लिए प्रशासनिक सेवा में अनुभव के साथ प्रतिभा और अन्य कौशल भी होना चाहिए।
  • मुख्य सचिव बनने के लिए उस अधिकारी के पास सिविल सेवा में अच्छी उपलब्धियां भी होनी चाहिए।
  • मुख्यमंत्री को विश्वासपात्र लगना चाहिए।
  • इस तरह को योग्यता और अनुभव वाला आईएएस अधिकारी ही सचिव बनता है, बाद में पदोन्नति करने पर मुख्य सचिव बनाया जाता है।

मुख्य सचिव की नियुक्ति कैसे की जाती है? (Mukhya Sachiv Ki Niyukti Kaise Hoti Hai)

मुख्य सचिव की नियुक्ति की प्रक्रिया में कोई प्रतिभाशाली और अनुभवी आईएएस अधिकारियों को शामिल किया जाता है, लेकिन उनमें से किसी एक को ही राज्य का मुख्य सचिव बनाया जाता है।

अब सवाल आता है कि मुख्य सचिव की नियुक्ति कौन करता है, तो आपको बता दें कि मुख्य सचिव की नियुक्ति राज्य का मुख्यमंत्री करता है।

मुख्यमंत्री द्वारा ऐसे आईएएस अधिकारी को चुना जाता है जो ज्यादा प्रतिभाशाली, योग्य और विश्वास पात्र हो। मुख्य सचिव राज्य के मुख्यमंत्री के कई कार्यो में सहायता प्रदान करता।

मुख्य सचिव की नियुक्ति के लिए मुख्यमंत्री एक साथ कई आईएएस अधिकारियों को मुख्य सचिव की चयन प्रक्रिया के लिए चुनता है।

उनमें से ज्यादा योग्य और जिसे सचिव के कार्यों का अच्छा अनुभव हो तथा मुख्यमंत्री को विश्वास पात्र लगे उससे आईएएस अधिकारी को मुख्य सचिव बनाया जाता है। इस तरह मुख्य सचिव की नियुक्ति होती है।

आपको आसान शब्दों में कहें तो मुख्य सचिव एक आईएएस अधिकारी ही होता है। लेकिन जब कोई आईएएस अधिकारी बनता है तो उसे लगभग 8 साल से 10 साल बाद प्रमोशन करके डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट बना दिया जाता है।

उसके बाद लगभग 15 साल के अनुभव के बाद किसी विभाग में डायरेक्टर के पद पर नियुक्त किया जाता है। जब आईएएस अधिकारी को 20 साल का अनुभव हो जाता है, तो उसे सचिवालय में सचिव के पद पर प्रमोशन कर दिया जाता है। 

सचिव के पद पर 5 साल से 10 साल तक काम करने पर उसका प्रमोशन करके सचिवालय में मुख्य सचिव के पद पर नियुक्ति कर दी जाती है।

मुख्य सचिव का क्या काम होता है? (Mukhya Sachiv Ka Kya Karya Hota Hai)

मुख्य सचिव को राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी माना जाता है, इसलिए राज्य के कई बड़े कार्यों में मुख्य सचिव की अहम भूमिका होती है। 

मुख्य सचिव को राज्य प्रशासन से जुड़े हर कार्य समझ होती है, इसलिए मुख्य सचिव को राज्य के महत्वपूर्ण कार्यों की जिम्मेदारी मिलती है।

  • राज्य में प्रशासन को सही रूप से चलने के लिए मुख्यमंत्री को सही सलाह प्रदान करना मुख्य सचिव का काम होता है।
  • राज्य की शासन नीतियां बनाने में भी मुख्य सचिव मदद करता है।
  • मंत्रिमंडल में होने वाली बैठकों के बारे में जानकारी मंत्रियों को प्रदान करना।
  • मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए फैसले के बारे में प्रशासनिक इकाइयों को सारी जानकारी प्रदान करना।
  • राज्य में विकास के लिए नई योजनाओं और अन्य नीतियों का निर्माण करना।
  • राज्य प्रशासन के विधि निर्माण कार्य में सहायता प्रदान करना।
  • राज्य के प्रशासन अधिकारियों को मार्गदर्शन करने में मुख्य सचिव मदद करता है।
  • मुख्य सचिव मुख्यमंत्री को मंत्रियों द्वारा भेजे गए प्रस्तावों, समस्याओं के बारे में जानकारी देता है।
  • मुख्य सचिव मुख्यमंत्री का सबसे अच्छा सलाहकार माना जाता है।
  • अपने राज्य के मुख्यमंत्री और अन्य राज्यों के सचिवों के बीच संपर्क साधने का कार्य करता है।
  • मंत्रिमंडल में होने वाली बैठकों की कार्य सूची बनाने का कार्य मुख्य सचिव का होता है।
  • मुख्य सचिव मंत्रिमंडल में होने वाली बैठकों, बैठकों में लिए गए निर्णय एवं अन्य रिकार्ड के बारे में भी जानकारी रखता है।
  • प्राकृतिक आपदाओं एवं अन्य संकटकालीन परिस्थितियों में सुरक्षा का काम करने वाले अधिकारियों को सलाह और मार्गदर्शन करने का कार्य मुख्य सचिव करता है।
  • राज्य के प्रशासन के प्रमुख समन्वयक का कार्य राज्य के मुख्य सचिव का होता है।

मुख्य सचिव की शक्तियां (Power Of Chief Secretary)

राज्य के सबसे बड़े अधिकारी मुख्य सचिव को अपने कार्यों के साथ-साथ कुछ शक्तियां भी प्रदान की जाती है, जिस वजह से मुख्य सचिव को राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी माना जाता है। 

मुख्य सचिव की शक्तियों का वर्णन कुछ इस प्रकार है, तो आइए मुख्य सचिव की शक्तियों के बारे में जाने।

  • मुख्य सचिव को पूरे सचिवालय पर नियंत्रण करने का हक होता है।
  • केंद्र सरकार एवं अन्य राज्य सरकारों के मध्य संपर्क बनाने का काम मुख्य सचिव का होता है।
  • सचिवालय के सभी विभागों, अधिकारियों आदि पर मुख्य सचिव निगरानी रखता है।
  • राष्ट्रीय विकास परिषदों के सभी बैठकों में मुख्य सचिव भाग लेता है।
  • मुख्य सचिव राज्य के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी के रूप में भी काम करने का अधिकार है।
  • आपदा प्रबंधन के समय कार्य करने वाले अधिकारियों को मुख्य सचिव किसी प्रकार का आदेश दे सकता है।
  • विभाग के अन्य सचिवों की बैठक होने पर मुख्य सचिव उस बैठक की अध्यक्षता करता है।
  • लोक सेवकों की नियुक्ति करना, उनका ट्रांसफर करना, प्रमोशन करना आदि जैसे फैसले लेने का हक मुख्य सचिव के पास होता है।
  • मुख्य सचिवों के वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने का मुख्य सचिव का होता है।

मुख्य सचिव का कार्यकाल कितना होता है? (Mukhya Sachiv Ka Karyakal Kitna Hota Hai)

मुख्य सचिव के कार्यकाल का समय सरकार की तरफ से निर्धारित नहीं किया गया है। जैसा कि हमने आपको बताया है कि एक आईएएस अधिकारी का प्रमोशन होने पर मुख्य सचिव का पद दिया जाता है।

इस वजह से उस आईएएस अधिकारी के सेवानिवृत्ति का समय होने तक, वह मुख्य सचिव के पद पर कार्य कर सकता है। 

एक जरूरी बात यह भी है कि कई बार मुख्य सचिव का कार्यकाल मुख्यमंत्री के आदेश पर बढ़ा दिया जाता है। ताकि वह अपने कार्यकाल में मुख्य सचिव के पद पर कोई अच्छे कार्य कर सके।

मुख्य सचिव की सैलरी कितनी होती है? (Mukhya Sachiv Ki Salary Kitni Hoti Hai)

अब बात आती है मुख्य सचिव के वेतन के बारे में, तो आपको बता दें कि मुख्य सचिव की सैलरी हर महीने 2.25 लाख रुपए या अधिक हो सकती है।

इसके अलावा मुख्य सचिव को कई प्रकार की अन्य सरकारी सुविधाओं का भी लाभ मिलता है, और महंगाई राहत भत्ते भी दिए जाते हैं।

FAQs – राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है?

आपको यहां तक यह तो पता चल गया होगा कि राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है? अब आपको इस टॉपिक से जुड़े कुछ सवालों के बारे में पढ़ना चाहिए।

#1: मुख्य सचिव की नियुक्ति किसके द्वारा की जाती है?

मुख्य सचिव की नियुक्ति राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है, मुख्यमंत्री कई बड़े और प्रतिभाशाली आईएएस अधिकारियों में से किसी एक को मुख्य सचिव चुनता है।

#2: मुख्य सचिव का वेतन कितना होता है?

मुख्य सचिव को हर महीने 2.25 लाख का वेतन दिया जाता है, क्योंकि इनको प्रशासनिक सेवा के क्षेत्र में कई सालों का अनुभव रहता है।

निष्कर्ष – राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है?

आज के इस आर्टिकल में आपको राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है, इस सवाल का जवाब मिला है।

इसमें आपको राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी यानी मुख्य सचिव के बारे में सारी जानकारी मिली है। यहां पर आपको मुख्य सचिव कौन होता है, मुख्य सचिव की नियुक्ति कैसे होती है, मुख्य सचिव का वेतन आदि के पूरा नॉलेज मिला होगा।

अगर आपको हमारे आर्टिकल में राज्य का सबसे बड़ा अधिकारी कौन होता है। इससे जुड़ी जानकारी अच्छी लगी है, तो इसे आगे भी जरूर शेयर करें।

Leave a comment