डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार (Digital Marketing Ke Prakar) 

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार क्या है? (Digital Marketing Ke Prakar Kya Hai) | डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Digital Marketing In Hindi) पूरा पढ़ें!

आज के इस आर्टिकल में हम डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं, इस पर चर्चा करने वाले हैं।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि डिजिटल मार्केटिंग कई प्रकार से कर सकते हैं; तो आज हम बात करने वाले हैं; कि वह कौन-कौन से प्रकार हैं; जिसके द्वारा हम डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं। 

चुंकि आजकल लोग कंप्यूटर और मोबाइल तथा लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग बहुत अधिक करने लगे हैं; और अपने ज्यादातर कार्य ऑनलाइन वेबसाइट्स पर करने लगे हैं, क्योंकि ऑनलाइन वेबसाइट पर हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध भी हो गई है।

यही वजह है कि डिजिटल मार्केटिंग के भिन्न-भिन्न तरीकों का उपयोग करके सभी बिजनेस अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करते हैं। 

आप लोगों को आज हम बताने वाले हैं कि डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? तो आइए आपको इन सभी मार्केटिंग के बारे में जानकारी देते हैं और यह ब्लॉग थोड़ा सा लंबा हो सकता है; तो कृपया आप हमारे ब्लॉग पर अंतिम तक पढ़िए।

और आर्टिकल को पूरा पढ़िए, ताकि आपको अच्छे से पता चल जाए कि डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार क्या है?

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार (Digital Marketing Ke Prakar Kya Hai)

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार क्या है? (Digital Marketing Ke Prakar Kya Hai) | डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Digital Marketing In Hindi)

वैसे तो डिजिटल मार्केटिंग के बहुत सारे प्रकार होते हैं, जिनका उपयोग आजकल ऑनलाइन अपने सामानों की बिक्री करने या उसकी बिक्री को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है।

उसमें से डिजिटल मार्केटिंग के कुछ तरीके बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हैं और उनका इस्तेमाल काफी ज्यादा किया जाता है। लेकिन उन प्रमुख तरीकों के अलावा भी कई अन्य तरह के डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार हैं।

सीधे तौर पर बात किया जाए; तो डिजिटल मार्केटिंग निम्न प्रकार के होते हैं, जिसमें सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, ऐप मार्केटिंग, एफिलिएट मार्केटिंग और भी निम्न प्रकार के मार्केटिंग है। 

चलिए अब डिजिटल मार्केटिंग के सभी प्रकारों के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करते हैं और इनके बारे में एक-एक करके पूरी जानकारी हासिल करते हैं।

#1. सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM Marketing)

अगर सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) के बारे में बात की जाए; तो यह एक ऐसा Process है; जिसकी मदद से आप अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन जैसे गूगल, याहू, आदि में रैंक करने के लिए बहुत बड़ा योगदान दे सकता है।

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) में बहुत सारी चीजों को शामिल किया जाता है।

सर्च इंजन मार्केटिंग का उपयोग organic search result लाने के लिए किया जाता है, और सर्च इंजन मार्केटिंग की मदद से आप अपनी वेबसाइट के आर्टिकल में organic traffic ला सकते हैं। 

आप चाहे किसी भी सर्च इंजन का प्रयोग करिए, लेकिन किसी भी जगह ads section पर अपनी website को लाना इतना आसान काम नहीं है। 

क्योंकि आपके जैसे और भी बहुत सारे व्यक्ति होते हैं; जो कि अपनी website पर ads चलाने के लिए search engines को बहुत पैसा देते रहते हैं। तो ऐसे में आपको अच्छे से bidding करना पड़ता है। 

अगर आपको कीवर्ड bidding बहुत अच्छे से आता है; तो आपको paid area में आपको आपकी bidding के अनुसार अपनी जगह मिल जाती है।

#2. (SEOM) सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मार्केटिंग 

बहुत लोग यह सोचते हैं; कि Ads के माध्यम से गूगल से ट्राफिक लाना ही सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)का काम है। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है!

(SEO) सर्च इंजन मार्केटिंग में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन को भी शामिल किया जाता‌ है, जिसकी मदद से website पर organic traffic लाया जाता है।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन से सर्च इंजन मार्केटिंग में बहुत ही कम कीमत में ज्यादा profit earn करने के लिए बहुत ही अच्छा और सरल तरीका है।

#3. ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)

ईमेल मार्केटिंग भी डिजिटल मार्केटिंग का एक रूप है, जिससे Ads के purpose से कमर्शियल प्रोडक्ट और सेवाओं को दिलासा देने के लिए ईमेल का प्रयोग किया जाता है। 

यह कस्टमर के बीच बिक्री बढ़ाने के लिए एक बेहतरीन और प्रोफेशनल तरीका माना जाता है। आज के समय में ईमेल मार्केटिंग करना बहुत ही आसान हो गया है।

चूंकि वर्तमान में मार्केटिंग करने के लिए बहुत सारे तरीके आ चुके हैं और मार्केटिंग के कार्यों को डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से किया जाने लगा है। इसलिए Traditional Marketing को अब Digital Marketing में बदल दिया गया है, जिसमें ईमेल मार्केटिंग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

जिसकी मदद से आपको अपने प्रोडक्ट का प्रमोशन करने में बहुत ज्यादा सहायता मिलती है, इससे सभी कंपनियों को बहुत ज्यादा फायदा मिलता है और अपने बिजनेस के लिए ईमेल मार्केटिंग का उपयोग करते हैं।

चूंकि पहले के समय पर मार्केटिंग करने योग्य पहले कुछ लिमिटेड जगह थी, जैसे कि रेडियो हो गया, टीवी, बैनर या फिर घर घर जाकर मार्केटिंग करना रहता था और ऐसे ही लोग मार्केटिंग करते थे। 

लेकिन आजकल के समय में technology बहुत आगे जाने की वजह से सभी चीजें बदल गई हैं और अब ज्यादातर लोग social media Platform में एक्टिव रहते हैं। 

इस वजह से मार्केटिंग करना बहुत आसान हो गया है और इससे व्यापारियों को बहुत फायदा देखने को मिला है। 

Email Marketing का मतलब ईमेल बिजनेस होता है, अपने ईमेल के माध्यम से अपने किसी प्रोडक्ट या सर्विस का प्रमोशन करना और ईमेल के माध्यम से customers बनाना इसी को ईमेल मार्केटिंग कहां जाता है।

ईमेल मार्केटिंग के माध्यम से एक साथ ही बहुत ज्यादा लोगों तक आप अपना प्रोडक्ट पहुंचाने में सक्षम हो सकते हैं; इससे आपको बार बार कोई पोस्टर बनाने की आवश्यकता नहीं होती है; और आपका मैसेज बहुत ही आसानी से ऑडियंस तक पहुंच जाता है।

उदाहरण के माध्यम से आपको ईमेल मार्केटिंग समझाते हैं, मान लीजिए आपके पास कोई बिजनेस है; और आपके पास बहुत सारे ग्राहक के e-mail address इकट्ठा करके रखे हैं, और आपका कोई नया प्रोडक्ट या फिर नई सर्विस लांच करने वाले हैं; तो आप अपने product की जानकारी ई-मेल मार्केट के माध्यम से आप अपने कस्टमर तक बहुत ही आसानी से पहुंचा सकते हैं।

इससे आपके ग्राहकों की संख्या बढ़ जाती है, और इससे आपके ग्राहक को भी फायदा होता है, और आपका भी बहुत फायदा होता है। 

इस तरह से E-mail marketing के माध्यम से आप बहुत ही कम खर्चे में अपना बहुत ज्यादा प्रचार कर सकते हैं।

#4. एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

जो लोग बहुत दिनों से ऑनलाइन बिजनेस कर रहे हैं, उनको एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में जरूर ही पता होगा या फिर कहीं पर सुना होगा, क्योंकि बहुत से blogger अपने blog  में इसका प्रयोग करते है। 

तो आइए आपको बताते हैं; एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में एफिलिएट मार्केटिंग एक ऐसा रास्ता है। 

जिसके जरिए एक ब्लॉगर किसी भी एक कंपनी के प्रोडक्ट को अपने website पर बेचकर कमीशन प्राप्त करता है। 

और जो भी कमीशन प्राप्त होता है, वह उस कंपनी के Product पर निर्भर करता है; कि वह किस प्रकार का Product है, जैसे कि फैंसी और lifestyle categories पर ज्यादा और electric product पर कम कमीशन प्राप्त होता है।

किसी भी प्रकार के प्रोडक्ट को अपने website के माध्यम से प्रमोशन करने के लिए आपको अपने वेबसाइट और ब्लॉग में बहुत ज्यादा traffic आना जरूरी है, कम से कम 10,000 visitors प्रतिदिन होने चाहिए। और अगर आपकी वेबसाइट नई है, तो आपको अपनी वेबसाइट पर ads लगाने से आपको कुछ भी कमाई नहीं होगी।

इसलिए आपके लिए ज्यादा बेहतर यही होगा, कि आप अपने Website पर Affiliate Products को अपने ब्लॉग पर तभी प्रयोग करें, जब आपके Website पर ज्यादा visitors आने लगे। 

इस सवाल का उत्तर उन लोगों को जानना बहुत ज्यादा जरूरी है, जो कि online field में है और यदि आप भी अपना Affiliate Marketing शुरू करना चाहते हैं, तो आपको यह जानना बहुत ही आवश्यक है, कि एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करता है?

#5. ऐप्स मार्केटिंग (Apps Marketing)

आप कोई भी ऐप बनवाते हैं, चाहे फिर वह Android App हो या फिर iOS App हो; आप कोई भी ऐप अच्छी income earn करने के लिए बनवाते हो। 

आप कोई ऐप बनवा लेते हैं; जैसे कि मान लीजिए आप कोई education app या आप कोई और ऐप बनवाते हैं। 

ऐप से बहुत पैसा कमाने के लिए, आपको अपने ऐप को Promote करना पड़ता है। यानी आपको अपने ऐप को Digital Platforms जैसे FB, Google, YouTube आदि पर मार्केटिंग किए बिना आप पैसा नहीं कमा सकते हैं। 

अगर आप अपने आपसे अच्छा खासा पैसा कमाना चाहते हैं, तो ऐप बनवाने के बाद सबसे पहला काम आप ये करिए कि digital platforms पर आप अपने एप्लीकेशन का promotion कराए। 

इसके साथ ही इस समय gaming apps नंबर एक पर है, और नंबर दो पर education app है।

#6. यूट्यूब मार्केटिंग (YouTube Marketing)

क्या आपको पता है, लोग यूट्यूब मार्केटिंग से लाखों करोड़ों रुपए कमाते हैं, जिसमें बिजनेस और प्रोडक्ट को यूट्यूब पर प्रमोट किया जाता है और बिजनेसमैन इसकी मदद से अपनी बिक्री को भी बढ़ा सकतें है। 

आपके मन में यह सवाल आया होगा कि YouTube और अपने channel पर brand product को promote करके अच्छा कमीशन प्राप्त कर सकता है। 

लेकिन ज्यादातर बिजनेस Owner मार्केटिंग के लिए YouTube को ही क्यों चुनते हैं। 

इसका जवाब यह है, कि गूगल के बाद YouTube दुनिया की (2nd most visited sites) के दूसरे नंबर पर आती है और इसमें हर दिन 1 मिलियन घंटे तक लोगों के द्वारा देखा जाता है। 

YouTube के approximately 68% visitors क्या मानना है। कि इन वीडियो से उन्हें purchasing decision लेना आसान लगता है।

#7. पीपीसी मार्केटिंग (PPC Marketing) 

PPC का फुल फॉर्म pay per click होता है, और आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल हर कोई कर रहा है। 

डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल बहुत ज्यादा बढ़ रहा है और ‌PPC भी डिजिटल मार्केटिंग का एक हिस्सा है और यह भी इंटरनेट मार्केटिंग का एक तरीका है।

जिसमें advertisers हर बार अपने किसी भी ads पर click करके पैसे पेमेंट करते है, आप कभी गूगल पर कुछ सर्च करते हो; तो आपने search ads जरूर देखा होगा और उसी को Google Ads कहते हैं।

Google Ads, Pay per click मॉडल पर  कार्य करता है, जिसमें user कीवर्ड पर बोली लगाते हैं; और अपने ads पर उस click के लिए पेमेंट करते हैं। 

जब भी कोई visitor किसी कीवर्ड को गूगल में सर्च करता है; तो गूगल पूछे हुए शब्द से संबंधित सबसे अच्छा विज्ञापन को चुनता है, और गूगल में सबसे ऊपर दिखाता है।

आपके Ads Quality Score कितना अच्छा होगा, आपका Ad rank भी बहुत अच्छा होगा; इससे आपके पैसे भी बहुत कम खर्च होंगे और इसी को पीपीसी मार्केटिंग कहा जाता है।

#8. सोशल मीडिया मार्केटिंग

आजकल के समय में Social Media Marketing अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने का एक बहुत ही बेहतरीन तरीका बन गया है, क्योंकि ये किसी भी बिजनेस की सफलता को आगे बढ़ाने के लिए पर्याप्त है। 

क्योंकि सोशल मीडिया पर पहले से ही ग्राहक अपने प्रिय ब्रांड के साथ जुड़े रहते हैं, इसलिए यदि आप अपने ऑडियंस के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे कि फेसबुक, Instagram, ट्विटर जैसी जगहों पर आप अपने बिजनेस में सफलता प्राप्त कर सकते हो और अपने बिक्री को भी और brand value, अथॉरिटी सभी चीजें बढ़ जाएंगी।

Social Media Marketing डिजिटल मार्केटिंग का एक अलग जरिया है, जहां हम ऐसे हजारों content create और share करते हैं। 

सोशल मीडिया पर अपने दूसरे company की marketing और branding में लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए इसमें ऐसे और भी कई अन्य गतिविधियां शामिल है; जैसे text और images को पोस्ट करना, वीडियो को पोस्ट करना, और ऐसे ही कई अन्य कंटेंट जिससे कि ऑडियंस engaged हो।

इसलिए अगर सही तरीके से सोशल मीडिया का प्रयोग किया जाए, तो बहुत ही जल्दी और बहुत अच्छे तरीके से कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट को बेच सकती है, और अपने brand value को बढ़ा सकती है।

#9. वायरल मार्केटिंग (Viral Marketing)

आप लोगों ने देखा होगा कि कोई भी वीडियो या कंटेंट बहुत ही तेजी से वायरल होता है। वायरल कंटेंट में आमतौर पर स्कोर अच्छी तरह से डिजाइन की गई viral strategy होती है, लेकिन Luck creative और तैयारी की वजह से भी वायरल की होती है।

Viral Marketing वह है, जो मैसेज के माध्यम से ब्रांड और प्रोडक्ट के interest और संभावित बिक्री उत्पन्न करता है, जो किसी वायरस की तरह बहुत तेजी से फैलता है और इसीलिए यह तरीका वायरल मार्केटिंग भी कहलाता है।

#10. कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing)

यह एक भी marketing strategy है, जिसका उपयोग video podcast और blogs जैसे चीजों को शेयर करने के लिए किया जाता है। जिसके माध्यम से आपके बीच में या फिर ब्रांड की वैल्यू बहुत ज्यादा अधिक हो जाती है, और आप इसकी मदद से बिक्री भी increase कर सकते  हैं। 

#11. मोबाइल मार्केटिंग (Mobile Marketing)

मोबाइल मार्केटिंग एक तरह से मल्टी चैनल डिजिटल मार्केटिंग strategy है, जिसका उद्देश्य स्मार्टफोन, टैबलेट और अन्य मोबाइल उपकरणों के द्वारा आपके Business को ईमेल s.m.s. और एमएमएस, सोशल मीडिया के माध्यम से और एप के द्वारा से टारगेटेड ग्राहकों तक पहुंचाता है।

वर्तमान समय में काफी सारी बिजनेस के द्वारा अपने बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए मोबाइल मार्केटिंग का उपयोग काफी ज्यादा किया जा रहा है, क्योंकि यह बिजनेस के लिए बहुत फायदेमंद और उपयोगी सिद्ध हुई है।

#12. इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग (Influencer Marketing )

इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग की Definition के बारे में बात की जाए, तो यह डिजिटल मार्केटिंग का एक ऐसा प्रकार है, जिसके माध्यम से कोई अपने Product के प्रमोशन के लिए किसी अच्छे सेलिब्रिटी या ज्यादा followers वाले इंसान को चुनता है। 

और उसे अपने प्रोडक्ट के बारे में उसकी ऑडियंस को बताने के लिए कहता है, जिससे कि उनकी कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में ज्यादा से ज्यादा ऑडियंस को पता चले और वह सभी उस कंपनी के कस्टमर बनें।

Related Posts:

निष्कर्ष – डिजिटल मार्केटिंग  कितने प्रकार होते हैं?

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार पर आधारित इस आर्टिकल में हमने आपको डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? इसके बारे में पूरी जानकारी दी है, और हम उम्मीद करते हैं; कि आपको डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार क्या हैं (Digital Marketing Ke Prakar); इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गई होगी और आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा।

अगर आपको यह आर्टिकल (Types of Digital Marketing In Hindi) पसंद आया है, तो हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित ऐसी ही उपयोगी जानकारी पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग के दूसरे आर्टिकल को भी पढ़ें।

ताकि आपको डिजिटल मार्केटिंग से जुड़ी अन्य जानकारियां प्राप्त हो जाए।

Leave a comment